Monthly Archives November 2018

उच्च रक्तचाप का घरेलू उपचार Home Remedies For High Blood Pressure

Home Remedies For High Blood Pressure

उच्च रक्तचाप क्या है What Is High Blood Pressure?

रक्तचाप वह शक्ति है जिससे दिल, धमनियों मे रक्त पंप करता है। सामान्य रक्तचाप 120/80 mm Hg होना चाहिए।
रक्तचाप अधिक होने से रक्त धमनियों में अधिक तेजी से चलता है। इस वजह से धमनियों में नाजुक ऊतकों (delicate tissues) पर दबाव बढ़ता है और रक्त वाहिकाओं (blood vessels ) को नुकसान पहुंचाता है।
अमेरिका मे उच्च रक्तचाप से आधे वयस्क प्रभावि...

Read More

उच्च रक्तचाप क्या है What Is High Blood Pressure?

रक्तचाप वह शक्ति है जिससे दिल, धमनियों मे रक्त पंप करता है। सामान्य रक्तचाप 120/80 mm Hg होना चाहिए।
रक्तचाप अधिक होने से रक्त धमनियों में अधिक तेजी से चलता है। इस वजह से धमनियों में नाजुक ऊतकों (delicate tissues) पर दबाव बढ़ता है और रक्त वाहिकाओं (blood vessels ) को नुकसान पहुंचाता है।
अमेरिका मे उच्च रक्तचाप से आधे वयस्क प्रभावित है। उच्च रक्तचाप एक मूक हत्यारा का काम करता है। आमतौर पर इसके लक्षणों का कारण पता नहीं चल पाता है। इसका पता तब चलता है जब दिल को नुकसान पहुँच गया होता है। ज्यादातर लोगों को इस बात का पता ही नही होता है कि उनको उच्च रक्तचाप है।

1. टहलते रहना Keep Walking

हर दिन 30 से 60 मिनट तक व्यायाम करना स्वस्थ जीवन के लिए महत्वपूर्ण है। नियमित व्यायाम रक्तचाप ठीक रखने में मदद तो करता ही है साथ ही हमारे शारीरिक गतिविधि, मूड, ताकत और शरीर के संतुलन को लाभ मिलता है। व्यायाम करने से मधुमेह और अन्य प्रकार के हृदय रोग के जोखिम को कम करने मे मदद मिलता है।

आप अपने डॉक्टर से सुरक्षित व्यायाम के बारे में बात करें। व्यायाम को धीरे-धीरे शुरू करें, फिर धीरे-धीरे गति दें।

शारीरिक गतिविधि के लिए पैदल चलना महत्वपूर्ण है। जिम भी जा सकते है। अपने घर पर कसरत कर सकते है। तैरने के लिए भी जा सकते है।

अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन सलाह देता है कि सप्ताह मे कम से कम दो दिन मांसपेशियों को मजबूत करने वाले व्यायाम करना चाहिए। इसके लिए भार उठाना, पुशअप करना या किसी अन्य तरह का व्यायाम कर सकते हैं जो मांसपेशीयों के मजबूत करने मे मदद करे।

2. DASH आहार लें

उच्च रक्तचाप मे Dietary Approaches to Stop Hypertension (DASH) आहार लेने से ब्लड प्रेशर को 11 mm Hg systolic तक कम हो सकता है। DASH मे जो आहार शामिल हैं वो निम्नलिखित है –

  • फल, सब्जियां, और पूरे अनाज लेना।
  • कम वसा वाले डेयरी उत्पाद और सुखे फल।
  • संतृप्त वसा वाले खाद्य पदार्थ और पूर्ण वसा वाले डेयरी उत्पाद को ना लें। मिठाई और मीठे पेय पदार्थों को कम लें।

3. सोडियम का सेवन कम करें Reduce Sodium Intake

रक्तचाप को कम करने के लिए सोडियम का सेवन कम करना महत्वपूर्ण है। बहुत अधिक सोडियम खाने से शरीर द्रव बनाए रखना शुरू करता है। इस वजह से रक्तचाप में वृद्धि हो जाती है।

सोडियम का सेवन प्रति दिन 1,500 मिलीग्राम से 2,300 मिलीग्राम के बीच करना चाहिए। यह आधे टेबल चम्मच नमक के बराबर होता है।

अपने भोजन में सोडियम का मात्रा कम करने के लिए, अपने खान – पान मे नमक कम लें। एक टेबल चम्मच नमक मे 2,300 मिलीग्राम सोडियम होता है।

नमक के जगह स्वाद बनाये रखने के लिए जड़ी बूटियों और मसालों का प्रयोग करें। जब भी आप बाहर का कोई खाने की चीज लें तो हमेशा उसका लेबल पढ़ें और संभव हो तो कम सोडियम वाले चीजें खाने के लिए चुनें।

वजन कम करें

ज्यादा वजन से रक्तचाप प्रभावित होता है। 10 किलो वजन कम कर लेने मात्र से रक्तचाप पर असर पड़ जाता है।

अल्कोहल कम लें

अल्कोहल ज्यादा लेने से रक्तचाप बढ़ जाता है। पुरूषों को 2 पैग और औरतों को 1 पैग से ज्यादा नहीं लेना चाहिए।

धूम्रपान न करें

धूम्रपान से कुछ समय के लिए रक्तचाप बढ़ जाता है। यहां तक कि दूसरे के द्वारा धूम्रपान करके छोड़ा गया धूआँ भी यदि सांस के द्वारा लिया जाए तो रक्तचाप और हृदय के लिए खरतनाक है।

Divya Mukta Vati – यह दवा एंटीऑक्सीडेंट के साथ उच्च रक्तचाप के लक्षणों को कम करने के लिए एक प्राकृतिक आयुर्वेदिक दवा है। यह दवा रक्त को शुद्ध करता है और दिल तथा यकृत का रक्षा करता है। Read More about Divya Mukta Vati

डायबिटीज मे खाना खाने के लिए सुझाव Tips For Eating In Diabetes

Tips For Eating In Diabetes

कनाडा का डायबिटीज एसोसिएशन सलाह देता है कि – खाना खाने से पहले अपने रक्त ग्लूकोज के स्तर की जांच करवायें और दो घंटे बाद जांच करवाएं कि आपका भोजन आपके रक्त ग्लूकोज को किस तरह प्रभावित करता है।

ऐसा आहार जो शुगर के रोगी को नहीं लेना चाहिए Foods That Should Not Be Taken By The Patient Of Sugar

  • तला हुआ भोजन न खाएं।
  • पचने मे भारी और फैटी भोजन मत खाएं।...
Read More

कनाडा का डायबिटीज एसोसिएशन सलाह देता है कि – खाना खाने से पहले अपने रक्त ग्लूकोज के स्तर की जांच करवायें और दो घंटे बाद जांच करवाएं कि आपका भोजन आपके रक्त ग्लूकोज को किस तरह प्रभावित करता है।

ऐसा आहार जो शुगर के रोगी को नहीं लेना चाहिए Foods That Should Not Be Taken By The Patient Of Sugar

  • तला हुआ भोजन न खाएं।
  • पचने मे भारी और फैटी भोजन मत खाएं।
  • मक्खन, नारियल के तेल और खजूर का तेल न खायें।
  • केक, मीठे अनाज, शहद, जैम, जेली, आइसक्रीम, या कैंडी जैसे खाद्य पदार्थ जिसमे चीनी हो न खाएं।
  • सोडा और मीठे फलों के रस न लें।
  • अपने खाद्य पदार्थों में चीनी मत लें।
  • भोजन करना मत छोड़ें, थोड़ा – थोड़ा लेते रहें ।

खाने के चीजों की खरीदारी करने से पहले Before Shopping Of Food Items

  • खरीदारी करने से पहले अपने भोजन की योजना बनाएं और खाद्य सामग्री मे विभिन्न प्रकार के खाद्य सामग्री शामिल करें।
  • अपने भोजन की योजना के अनुसार किराने की दुकान के लिए सूची बनाएं।
  • सोडा, मिठाई और चिप्स से बचें।
  • मधुमेह होने पर परिवार या दोस्तों के साथ यदि भोजन करते है तो उनका साथ निभाने के लिए ऐसा कोई भोजन ना करें जो आप के स्वास्थ्य के प्रतिकुल हो। यहां तक कि जब आप किसी होटल या रेस्तरां में खाना खाते हैं तो आप अपने स्वास्थ्य के अनुरूप ही भोजन करें।

खाना खाने के लिए सुझाव Tips For Eating Food

  1. खाना खाने से पहले ताजे शब्जियों का सूप या ताजे फलों का जूस लें। ता कि आप कम रोटी खा पाएं।
  2. सलाद ज्यादा मात्रा मे लें ताकि आप रोटी कम खाएं।
  3. खाद्य पदार्थों को बदलते रहें – खाने मे खाद्य पदार्थों को बदलते रहें। तला हुआ भोजन के बजाय उबला हुए या बेक्ड खाद्य पदार्थों को लें। सलाद या उबला हुआ सब्जियां लें।
  4. फल लें – मिठाई के जगह संभव हो तो फल लें। भोजन के अंत में चीनी वाले मिठाई से बचें।
  5. काम करने के साथ आराम भी करते रहें और अपने भोजन का आनंद लें। जब आप खाना खाते समय पेट भरा हुआ महसूस करें तो खाना खाना रोक दें। ताकि ज्यादा मात्रा मे भोजन ना लें। ज्यादा मात्रा मे भोजन लेने से शुगर बढ़ जाता है।
  6. खाना 8 बजे से पहले खा लें और अपने डिनर करने के बाद कुछ टहलें।
मधुमेह के लिए आयुर्वेदिक दवा Divya Madhunashini Vati

यह दवा स्वामी रामदेव जी के दिव्य फार्मेसी मे बना हुआ है। यह दवा जड़ी बूटियों से बना हुआ आयुर्वेदिक दवा है। इस दवा के खाने से कोई नुकसान नहीं है। अधिक जानकारी के लिए Click करें।