उच्च रक्तचाप का घरेलू उपचार Home Remedies For High Blood Pressure

Home Remedies For High Blood Pressure

उच्च रक्तचाप क्या है What Is High Blood Pressure?

रक्तचाप वह शक्ति है जिससे दिल, धमनियों मे रक्त पंप करता है। सामान्य रक्तचाप 120/80 mm Hg होना चाहिए।
रक्तचाप अधिक होने से रक्त धमनियों में अधिक तेजी से चलता है। इस वजह से धमनियों में नाजुक ऊतकों (delicate tissues) पर दबाव बढ़ता है और रक्त वाहिकाओं (blood vessels ) को नुकसान पहुंचाता है।
अमेरिका मे उच्च रक्तचाप से आधे वयस्क प्रभावित है। उच्च रक्तचाप एक मूक हत्यारा का काम करता है। आमतौर पर इसके लक्षणों का कारण पता नहीं चल पाता है। इसका पता तब चलता है जब दिल को नुकसान पहुँच गया होता है। ज्यादातर लोगों को इस बात का पता ही नही होता है कि उनको उच्च रक्तचाप है।

1. टहलते रहना Keep Walking

हर दिन 30 से 60 मिनट तक व्यायाम करना स्वस्थ जीवन के लिए महत्वपूर्ण है। नियमित व्यायाम रक्तचाप ठीक रखने में मदद तो करता ही है साथ ही हमारे शारीरिक गतिविधि, मूड, ताकत और शरीर के संतुलन को लाभ मिलता है। व्यायाम करने से मधुमेह और अन्य प्रकार के हृदय रोग के जोखिम को कम करने मे मदद मिलता है।

आप अपने डॉक्टर से सुरक्षित व्यायाम के बारे में बात करें। व्यायाम को धीरे-धीरे शुरू करें, फिर धीरे-धीरे गति दें।

शारीरिक गतिविधि के लिए पैदल चलना महत्वपूर्ण है। जिम भी जा सकते है। अपने घर पर कसरत कर सकते है। तैरने के लिए भी जा सकते है।

अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन सलाह देता है कि सप्ताह मे कम से कम दो दिन मांसपेशियों को मजबूत करने वाले व्यायाम करना चाहिए। इसके लिए भार उठाना, पुशअप करना या किसी अन्य तरह का व्यायाम कर सकते हैं जो मांसपेशीयों के मजबूत करने मे मदद करे।

2. DASH आहार लें

उच्च रक्तचाप मे Dietary Approaches to Stop Hypertension (DASH) आहार लेने से ब्लड प्रेशर को 11 mm Hg systolic तक कम हो सकता है। DASH मे जो आहार शामिल हैं वो निम्नलिखित है –

  • फल, सब्जियां, और पूरे अनाज लेना।
  • कम वसा वाले डेयरी उत्पाद और सुखे फल।
  • संतृप्त वसा वाले खाद्य पदार्थ और पूर्ण वसा वाले डेयरी उत्पाद को ना लें। मिठाई और मीठे पेय पदार्थों को कम लें।

3. सोडियम का सेवन कम करें Reduce Sodium Intake

रक्तचाप को कम करने के लिए सोडियम का सेवन कम करना महत्वपूर्ण है। बहुत अधिक सोडियम खाने से शरीर द्रव बनाए रखना शुरू करता है। इस वजह से रक्तचाप में वृद्धि हो जाती है।

सोडियम का सेवन प्रति दिन 1,500 मिलीग्राम से 2,300 मिलीग्राम के बीच करना चाहिए। यह आधे टेबल चम्मच नमक के बराबर होता है।

अपने भोजन में सोडियम का मात्रा कम करने के लिए, अपने खान – पान मे नमक कम लें। एक टेबल चम्मच नमक मे 2,300 मिलीग्राम सोडियम होता है।

नमक के जगह स्वाद बनाये रखने के लिए जड़ी बूटियों और मसालों का प्रयोग करें। जब भी आप बाहर का कोई खाने की चीज लें तो हमेशा उसका लेबल पढ़ें और संभव हो तो कम सोडियम वाले चीजें खाने के लिए चुनें।

वजन कम करें

ज्यादा वजन से रक्तचाप प्रभावित होता है। 10 किलो वजन कम कर लेने मात्र से रक्तचाप पर असर पड़ जाता है।

अल्कोहल कम लें

अल्कोहल ज्यादा लेने से रक्तचाप बढ़ जाता है। पुरूषों को 2 पैग और औरतों को 1 पैग से ज्यादा नहीं लेना चाहिए।

धूम्रपान न करें

धूम्रपान से कुछ समय के लिए रक्तचाप बढ़ जाता है। यहां तक कि दूसरे के द्वारा धूम्रपान करके छोड़ा गया धूआँ भी यदि सांस के द्वारा लिया जाए तो रक्तचाप और हृदय के लिए खरतनाक है।

Divya Mukta Vati – यह दवा एंटीऑक्सीडेंट के साथ उच्च रक्तचाप के लक्षणों को कम करने के लिए एक प्राकृतिक आयुर्वेदिक दवा है। यह दवा रक्त को शुद्ध करता है और दिल तथा यकृत का रक्षा करता है। Read More about Divya Mukta Vati

Leave a reply

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>